जियो 4G खरीदने से पहले जरूर जानें ये चार बातें नही तो पछताएंगे


रिलायंस टेलीकाम कंपनी ने 4G की जियो सेवा की शुरुआत कर टेलीकाम इंडस्‍ट्री मे क्रांति ला दी है। जियो के मार्केट मे आने से कई टेलीकाम कंपनियों को करोड़ों का नुकसान भी हुआ है। कई कंपनियों ने अपने कॉल रेट और डाटा पैक भी सस्‍ते कर दिए हैं। 4G लॉन्‍च करने वाली सभी कंपियों को जियो ने कुछ ही दिनो मे पीछे छोड़ दिया है। जियो का नेट और फ्री कॉलिंग इसकी खासियत है। यूजर्स को शायद इस बात का पता न हो कि जियो की इनकमिंग और आउटगोइंग का फायदा उठाने के लिए हर वक्त मोबाइल डाटा को ऑन रखना पड़ेगा। हर किसी को जियो की मुफ्त कॉलिंग, टेक्स्टिंग और रोमिंग बहुत पसंद आ रही है पर इसमे कुछ समस्‍यायें भी हैं। आज हम आप को उन्‍ही समस्‍याओं के बारे मे बताने जा रहे हैं।


क्‍या है एलटीई नेटवर्क
एलटीई 4G का समानार्थी शब्द है। वोल्टे को आप एक प्रोटोकॉल है समझ सकते हैं जिसे एलटीई पर इस्तेमाल करते हैं। वॉयस ओवर एलटीई यानी वोल्टे का मतलब क्या होता है। एलटीई पर वॉयस कॉलिंग या 4G पर वॉयस का डाटा पैकेट्स के रूप में ट्रांसफर होता है। यानी 2G या 3G की तुलना में वोल्टे पर बिल्कुल अलग तरह से बातचीत होती है। बातचीत को डाटा के छोटे-छोटे पैकेटों को मिलाकर एक बड़ा बंडल बना दिया जाता है। इसका डाटा ट्रांसफर के जरिये कॉलर-रिसीवर के बीच आदान-प्रदान किया जाता है। यह डाटा ट्रांसफर 4G पर होता है इसलिए इसकी कॉल क्वॉलिटी काफी अच्छी होती है


जियो मे हैं ये दिक्‍कतें
तीनों नेटवर्क की जनरेशन के शॉर्ट फॉर्म हैं यानी सेकेंड जनरेशन 2G फॉर वायरलेस मोबाइल टेलीकम्यूनिकेशन थर्ड जनरेशन 3G और फोर्थ जनरेशन 4G है। इन जनरेशन के बढ़ने के साथ ही मोबाइल टेलीकम्यूनिकेशन में डाटा की रफ्तार बढ़ जाती है। 3G को जहां सीडीएमए, यूएमटीएस, एचएसपीए भी कहा जाता है वहीं 4G को एलटीई लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन कहा जाता है। क्‍या आप को पता है कि अगर आप जियो की सेवा का आनंद उठा रहे हैं तो यूजर्स द्वारा मोबाइल डाटा बंद करते ही उनके फोन पर इनकमिंग-आउटगोइंग बंद हो जाएंगी। इसके पीछे थोड़ी तकनीकी बाधा है।


हमेशा रखना होगा डाटा ऑन
ऑल टाइम डाटा कनेक्टिविटी के चलते आप का मोबाइल जल्‍द डिस्चार्ज हो जाएगा। सामान्य बैटरी वाले यूजर्स को दिन में कम से कम तीन बार बैट्री चार्ज करने  की जरूरत पड़ेगी। ऐसे स्थानों पर जहां 4G नेटवर्क नहीं है या फिर आपके फोन में डाटा कनेक्टिविटी नहीं आ रही है वहां आप कॉल नही कर पाएंगे। नॉन वोल्टे फोन मे जियो कॉलिंग के लिए जियो ज्वाइन ऐप का इस्तेमाल करना होगा। जिसके लिए आप को हमेशा डाटा ऑन रखना होगा।


एलटीई फोने मे ही मिलेंगी जियो की सेवाएं
जियो की सेवाएं सिर्फ एलटीई फोन पर ही उपलब्ध हैं। 2G या बेसिक हैंडसेट्स पर जियो सिम डालने का कोई फायदा नहीं होगा क्योंकि उनमें वोल्टे नहीं होता है। जिसके चलते उससे कॉलिंग नहीं हो सकेगी। कॉल करने और रिसीव करने के लिए हर वक्त आपको अपना मोबाइल डाटा ऑन रखना होगा। हर स्मार्टफोन में तमाम ऐसे ऐप्स होते हैं जो बैकग्राउंड में चलते रहते हैं। यह ऐप डाटा के जरिये चलते हैं। हर वक्त डाटा ऑन रहने से यह डाटा की ज्‍यादा खपत करेंगे। अभी तक आप मोबाइल डाटा ऑफ करके डाटा बचा लेते पर अब नहीं बचा पाएंगे।
Previous
Next Post »
Thanks for your comment